शिकारीपारा में पुलिस की गोलियों का ‘शिकार’ हुआ 15 लाख का इनामी नक्सली ताला दा, कई घायल

झारखंड की उपराजधानी दुमका से करीब 43 किलोमीटर दूर स्थित शिकारीपारा में रविवार तड़के नक्सलियों के साथ पुलिस की मुठभेड़ हो गयी। कारीपारा थाना क्षेत्र के छातुपाड़ा में हुई मुठभेड़ में दो नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। चार-पांच नक्सलियों को गोली लगने की भी खबर है।

सूत्रों की मानें, तो मृतक एक नक्सली सहदेव राय उर्फ ताला दा है। ताला दा ने ही पाकुड़ के एसपी अमरजीत बलिहार को गोली मारी थी। इस दुर्दांत नक्सली पर 15 लाख रुपए का इनाम था। नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई में इसे सबसे बड़ी सफलता माना जा रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सीमा सुरक्षा बल (एसएसबी) की टीम देर रात नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन पर निकली थी। पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि छातुपाड़ा में नक्सलियों की गतिविधियां देखी गयी हैं। इसी के आधार पर जवान कार्रवाई के लिए निकले। जवाों को अपनी ओर आते देख नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। दोनों ओर से हुई भीषण गोलीबारी में इस दुर्दांत नक्सली की मौत हो गयी।

घटनास्थल से इंसास और एके 47 राइफल बरामद होने की भी खबर है। जान बचाकर अलग-अलग दिशाओं में भागे दर्जन भर नक्सलियों की तलाश में पुलिस जुट गयी है। पुलिस की अलग-अलग टीमों को उनकी तलाश करने के लिए भेजा गया है। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद है। एसपी वाइएस रमेश खुद घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं। संथाल परगना के डीआइजी राज कुमार लकड़ा घटनास्थल की ओर रवाना हो गये हैं।

पुलिस ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी है। सर्च ऑपरेशन जारी है। संथाल परगना क्षेत्र के डीआइजी आरके लकड़ा के अलावा एसडीओ और डीएसपी सुबह ही शिकारीपारा थाना पहुंच गये थे। यहां से डीआइजी लकड़ा मुठभेड़ स्थल के लिए कूच कर चुके हैं। पुलिस और नक्सलियों का आमना-सामना दुमका जिला मुख्यालय से करीब 43 किलोमीटर दूर स्थित शिकारीपाड़ा में हुआ। शिकारीपाड़ा झारखंड के नक्सल प्रभावित जिलों में आता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *