BJP को हराने के लिए हर सूबे में अलग-अलग रणनीति पर काम : शरद यादव

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव का बीएसपी सुप्रीमो के पैर छूकर आशीर्वाद लेने और अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद 2019 की चुनावी सियासत अलग मोड़ लेती दिख रही है। इसी क्रम में गैर बीजेपी और गैर कांग्रेस गठबंधन की संभावनाओं पर शरद यादव ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को हराने के लिए हर सूबे में अलग-अलग रणनीति पर काम किया जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि चुनाव के बाद राष्ट्रीय स्तर पर गठबंधन बनेगा।

न्यूज 18 से बात करते हुए शरद यादव ने अपने तर्क में कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और लेफ्ट एक साथ नहीं आ सकते, वे अलग-अलग लड़ेंगे ये तय है। लेकिन यह भी पक्का है कि वे बीजेपी के साथ जाने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बिहार में आरजेडी के लोग सबसे बात कर रहे हैं। वहां कोई ज्यादा दिक्कत नहीं है लेकिन हम चाहते हैं एक गठबंधन बन जाए।

जेडीयू के पूर्व नेता ने कहा कि बीजेपी के खिलाफ सबका मानस साफ है। उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान, अनुप्रिया पटेल और ओम प्रकाश राजभर जैसे नेता मेरे पास आते तो उनके दर्द जानता। आते तो हम कोई ना कोई रास्ता निकालते। आपको बता दें कि ये तीनों नेता अंतर्विरोध के बाद भी एनडीए का हिस्सा बने हुए हैं।

गौरतलब है कि रविवार को बसपा सुप्रीमो मायावती से और सोमवार को अखिलेश यादव से मिलने के बाद पटना लौटे तेजस्वी यादव ने सपा- बसपा गठबंधन को एतिहासिक कदम बताया है। उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन होते ही बिहार और उत्तर प्रदेश में बीजेपी की करारी हार की शुरुआत हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *